कपिलवस्तु- नेपाल प्रहरी चौकी मर्यादपुर एसएसआई गगन शाही व नेपाल के शान्ति पुर्नास्थापना गृह के वॉलिंटियरों सदस्यों (NGO) की सक्रियता से मानव तस्कर के चंगुल से बची नेपाली लड़की

● ह्यूमन ट्रैफिकिंग केश- शादी-विवाह के झाँसे में किस साजिश का शिकार हो रही है नेपाली लड़किया?

कपिलवस्तु- नेपाल प्रहरी चौकी मर्यादपुर एसएसआई गगन शाही व नेपाल के शान्ति पुर्नास्थापना गृह के वॉलिंटियरों सदस्यों (NGO) की सक्रियता से मानव तस्कर के चंगुल से बची नेपाली लड़की

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
खुनुवा (नेपाल बॉर्डर), शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

भारत नेपाल सीमा खुनुवा बार्डर के मर्यादपुर प्रहरी चौकी नेपाल के शान्ति पुर्नास्थापना गृह के वॉलिंटियरों सदस्यों ने मानव तस्करी होने से एक नेपाली लड़की को भारतीय मानव तस्कर के चंगुल से  बचाया। कपिलवस्तु नेपाल प्रहरी चौकी मर्यादपुर के चेकपोस्ट पर नेपाली एनजीओ शान्ति पुर्नास्थापना गृह के कल्पना क्षेत्री व उर्षा आचार्य को सूचना मिली कि एक भारतीय लड़का एक नेपाली लड़की को लेकर गोरखपुर जाने वाला है तब तक एक लड़का लड़की आते दिखाई दिये। रोक कर पूछताछ किया गया तो लड़की ने बताया कि वह नेपाल के कपिलवस्तु न० पा०वडा नम्बर 3 तौलिहवा की रहने वाले हैं और मानव तस्कर ने अपना नाम मोहन चौहान गोरखपुर उत्तर प्रदेश का निवासी है बताया। लड़की ने बताया कि हमको गोरखपुर ले जाकर शादी करने को कहे थे। लड़की को उसके अभिभावक सुनील कुमार को व लड़के को सनिमा प्रिया यादव को सुपुर्द कर दिया गया। इस दौरान कपिलवस्तु नेपाल प्रहरी चौकी मर्यादपुर के एसएसआई गगन शाही, कल्पना क्षेत्री, उर्षा आचार्य, सुनील कुमार, सनिमा प्रिया यादव आदि  मौजूद रहे।